मुलायम सिंह के परिवार के ऊपर टूट पड़ा दुखों का पहाड़, निधन से शोक में डूबा पूरा परिवार

राजनीति के सबसे बड़े खिलाड़ी माने जाने वाले मुलायम सिंह मंगलवार को स्वास्थ्य संबंधित शिकायत की वजह से चल बसे। एक बार में जिसने भी मुलायम सिंह के निधन के बारे में सुना तो उसे अपने कानों पर यकीन नहीं हुआ कि इतना महान नेता इतनी जल्दी कैसे अचानक से इस दुनिया को छोड़ कर चला गया। मुलायम सिंह के निधन पर धर्मेंद्र यादव, उमर अब्दुल्ला जैसे बड़े नेताओं ने कहा है कि यह एक देश को बहुत बड़ी क्षति हुई है क्योंकि मुलायम सिंह यादव उन नेताओं में से माने जाते है जो जनता की सेवा के लिए हमेशा तत्पर रहते थे। देर रात तक मुलायम सिंह के पार्थिव शरीर को देखने के लिए भारी भीड़ जूती रही थी और आइए बताते हैं कैसे आधी रात को पूरे परिवार के सब्र का बांध टूट गया और लोग फूट-फूटकर रोते नजर आएं।

मुलायम सिंह के निधन से टूट कर बिखर पड़ी बहू डिंपल यादव, अखिलेश यादव नजर आ रहे थे बेहद भावुक

मुलायम सिंह के परिवार के ऊपर टूट पड़ा दुखों का पहाड़, निधन से शोक में डूबा पूरा परिवार

मुलायम सिंह यादव उन राजनेताओं में शुमार थे जो एक समय में कभी प्रधानमंत्री पद के दावेदार माने जाते थे और यह उनकी राजनीति का ही कमाल था कि उत्तर प्रदेश में उनके नाम का डंका आज तक बज रहा है और उन्हीं की बदौलत उनका बेटा अखिलेश यादव को आज बड़े राजनेताओं में शुमार किया जाता है। इस महान नेता के निधन से सभी कार्यकर्ताओं में बहुत ही ज्यादा दुख देखा गया और खास करके उनकी बहू डिंपल यादव को तो यकीन ही नहीं हो रहा था कि उनके पिता समान ससुर अब इस दुनिया में नहीं रहे। मुलायम सिंह यादव के निधन से आइए बताते हैं कैसे अखिलेश यादव को बहुत बड़ी चोट पहुंची है लेकिन उसके बाद भी वह खुद को क्यों संभालते नजर आ रहे थे।

अखिलेश यादव इस वजह से संभाल कर रख रहे थे खुद को, पिता के जाने से लगा है बड़ा सदमा

मुलायम सिंह के परिवार के ऊपर टूट पड़ा दुखों का पहाड़, निधन से शोक में डूबा पूरा परिवार

मुलायम सिंह यादव के निधन पर पूरे कार्यकर्ताओं में हाहाकार मच गया था और किसी को भी यकीन नहीं हो रहा था कि उनका यह महान नेता अब उनके बीच में नहीं रहा है। हालांकि सभी कार्यकर्ताओं को मुलायम सिंह यादव के बेटे अखिलेश यादव ढाढस बढ़ाते नजर आ रहे थे लेकिन उनके चेहरे से यह साफ पता चल रहा था कि वह अपने पिता को खोने की वजह से कितने ज्यादा निराश थे। हालांकि अखिलेश यादव इस वजह से नहीं रो रहे थे क्योंकि अगर वह तो पूरे पार्टी की हिम्मत खत्म हो जाती और इसी वजह से वह लोगों को ढांढस बंधा रहे थे लेकिन आधी रात को अखिलेश यादव के सब्र का बांध टूट गया और वह फूट-फूट कर रोने लगे।

About Shubham Tiwari

नमस्कार! में एक डिजिटल पत्रकार हूँ जो बॉलीवुड न्यूज़ में रुचि रखता है और अपने पाठकों को बॉलीवुड की रोचक जानकारियों से रूबरू करवाता है। अगर आपको मेरे द्वारा लिखे गए लेख पसंद आ रहे हैं तो मुझे फ़ॉलो करके अच्छे लेख लिखने के लिए प्रोत्साहित करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *